Website Logo Website Logo

About Kumar Manoj

KUMAR MANOJ
एक भरोसा, एक नाम
About KUMAR MANOJ
वर्तमान हिंदी कवी सम्मेलनों में भारत और दुनिया में अपनी चुटीली व्यंग्य शैली, हृदय को गहरे चुने वाली ग़ज़लों और ओजपूर्ण कविताओं से श्रोताओं पर चुंबकीय प्रभाव कायम करने वाले कवी कुमार मनोज आज हिंदी कवी सम्मेलनों में सर्वाधिक कोट किये जाने वाले कवियों में से एक हैं]

कवी सम्मेलन की दुनिया का एक सच्चा अच्छा मंच और कविता के प्रति ईमानदार नाम है कुमार मनोज जिनकी ग़ज़लें रचनाएं प्रस्तुति आज भी लोगों के दिल में घर कर बैठा है

कुमार मनोज की कवितायेँ युवाओं को बहुत प्रेरित करती हैं व सोशल मीडिया पर हजारों लोग कुमार मनोज को सुन्ना बेहद पसंद करते हैं

कुमार मनोज एक अच्छे हास्य कवी मंच संचालक गायक और बेमिशाल शायर होने के साथ ही एक प्रेरक वक्त भी हैं.

हास्य कवी

मंच संचालक

बेमिशाल शायर

प्रेरक वक्ता

वर्तमान हिंदी कवी सम्मेलनों में भारत और दुनिया में अपनी चुटीली व्यंग्य शैली, हृदय को गहरे चुने वाली ग़ज़लों और ओजपूर्ण कविताओं से श्रोताओं पर चुंबकीय प्रभाव कायम करने वाले कवी कुमार मनोज आज हिंदी कवी सम्मेलनों में सर्वाधिक कोट किये जाने वाले कवियों में से एक हैं]कवी सम्मेलन की दुनिया का एक सच्चा अच्छा मंच और कविता के प्रति ईमानदार नाम है कुमार मनोज जिनकी ग़ज़लें रचनाएं प्रस्तुति आज भी लोगों के दिल में घर कर बैठा है

कुमार मनोज की कवितायेँ युवाओं को बहुत प्रेरित करती हैं व सोशल मीडिया पर हजारों लोग कुमार मनोज को सुन्ना बेहद पसंद करते हैं

कुमार मनोज एक अच्छे हास्य कवी मंच संचालक गायक और बेमिशाल शायर होने के साथ ही एक प्रेरक वक्त भी हैं.

कभी मिटती नहीं ऐसी निशानी छोड़ जाती है, मोहब्बत मौन रहकर भी कहानी छोड़ जाती है | महज दो चार दिन सुन्दर सलोने ख्वाब दिखलाकर, हमेशा के लिए आखों में पानी छोड़ जाती है |

Kumar ManojInternational Poet

कैसा विस्फोट था की एक पल भी न लगा पुरे जिस्म की ही कही बोटियाँ चली गयीं आप के लिए तो एक आदमी मरा हुजूर किन्तु मेरे घर की रोटियां चली गयीं |

Kumar ManojInternational Poet
भटकती जिंदगी में वक़्त ठहरा देख लेता हु अँधेरी रात में सपना सुनहरा देख लेता हु, हजारों दर्द जब दुनिया घेर लेते है तो मैं एक फूल से बच्चे का चेहरा देख लेता हु|
Kumar ManojInternationa Poet